जिसका मुझे था इंतज़ार Jiska Mujhe Tha Intezar Lyrics – DON

जिसका मुझे था इंतज़ार Jiska Mujhe Tha Intezar Lyrics – DON




https://www.youtube.com/watch?v=BWaWPtFvqUw



जिसका मुझे था इंतज़ार Jiska Mujhe Tha Intezar Lyrics – DON

जिसका मुझे था इंतज़ार
जिसके लिए दिल था बेक़रार
वो घड़ी आ गई, आ गई
आज, प्यार में हद से गुज़र जाना है
मार, देना है तुझको या मर जाना है

जिसका मुझे था इंतज़ार
जिसके लिए दिल था बेक़रार
वो घड़ी आ गई, आ गई
आज, प्यार में हद से गुज़र जाना है
मार, देना है तुझको या मर जाना है

मुझपे जो गुज़री तू क्या जाने
तू क्या समझे ओ दीवाने
ले के रहूँगी बदला तुझसे
आई हूँ दिल की आग बुझाने

हो.. क़ातिल मेरी नज़रों से बच के कहाँ जायेगा
क़ातिल मेरी नज़रों से बच के कहाँ जायेगा
दिया है जो मुझको वही तू मुझसे पायेगा
वो घड़ी आ गई, आ गई
तीर, बन के जिगर में उतर जाना है
मार, देना है तुझको या मर जाना है

जादू तेरा किसपे चला
होगा किसी दिन ये फ़ैसला
वो घड़ी आयेगी, आयेगी
जानां, तूने अभी ये कहाँ जाना है
किसे, जीना है और किसको मर जाना है

होगा तेरा आशिक़ ज़माना
औरों का दिल होगा तेरा निशाना
नाज़ न कर यूँ तीर-ए-नज़र पे
आए हमें भी तीर चलाना
जो है खिलाड़ी उन्हें खेल हम दिखाएंगे
अपने ही जाल में शिकारी फँस जायेंगे
वो घड़ी आयेगी, आयेगी
वक़्त, आने पे तुझको ये समझाना है
किसे, जीना है और किसको मर जाना है
किसे, जीना है और किसको मर जाना है



जिसका मुझे था इंतज़ार Jiska Mujhe Tha Intezar Lyrics – DON Video


https://www.youtube.com/watch?v=BWaWPtFvqUw

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *