हक है Haq Hai Lyrics in Hindi – Budh | sung by Jonita Gandhi

हक है Haq Hai Lyrics in Hindi – Budh | sung by Jonita Gandhi








हक है Haq Hai Lyrics in Hindi – Budh | sung by Jonita Gandhi

चल खुल जायें
तू और मैं ऐ दिल
चल ढूँढे कोई
नयी मंजिल..

यहाँ साए है घनघोर
मेरी रूह रहे हैं निचोड़
चल जाते हैं सब छोड़
अगर तू सहमत है..

हक है.. हक है..
मुझे भी जीने का हक है
हक है.. हक है..
मुझे भी जीने का हक है..
हक है.. हक है..

नहीं सिमट के बैठना
साँसों को थामे
नहीं तिल तिल मरना
सुनके सौ ताने..

पीछे रात है आगे भोर
आगे है सुकून पीछे शोर
www..in
चल जाते हैं सब छोड़
अगर तू सहमत है

हक है.. हक है..
मुझे भी जीने का हक है
हक है.. हक है..
मुझे भी जीने का हक है..
हक है.. हक है..



हक है Haq Hai Lyrics in Hindi – Budh | sung by Jonita Gandhi Video




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *