गोविन्द बोलो Govind Bolo – Jubin Nautiyal

गोविन्द बोलो Govind Bolo – Jubin Nautiyal








गोविन्द बोलो Govind Bolo – Jubin Nautiyal

बोल बोल के थक गये तुम
दुनिया के सारे बोल
बोल बोल के थक गये तुम

बोल बोल के थक गये तुम
दुनिया के सारे बोल
साँसों में जपले कान्हा
धडकन में राधे बोल

गोविन्द बोलो हरी गोपाल बोलो
गोविन्द बोलो हरी गोपाल बोलो
राधा रमण हरी गोविन्द बोलो

बोल, बोल, बोल गोविंदा
बोल, बोल, बोल गोपाला
बोल, बोल, बोल गोविंदा
बोल, बोल, बोल गोपाला

हाँ.. हम्म..

बनवासी तन में मीरा
ढूँढे वृन्दावन का अँगना
राधा की प्यासी आँखों से
छलके श्याम नाम की यमुना

बनता है क्यूँ तू पगले
खुद ही खुद की बाधा
तू भी ढून्ढ ले खुद में
जा के कोई मीरा कोई राधा

यार बना ले उस रब को
जो पार लगता है सबको
वो चाहे तो मिल जाए
जग के सारे गोल

बोल, बोल, बोल, बोल, बोल बोल, बोल

गोविन्द बोलो हरी गोपाल बोलो
राधा रमण हरी गोविन्द बोलो
गोविन्द बोलो हरी गोपाल बोलो
राधा रमण हरी गोविन्द बोलो

बोल, बोल, बोल गोविंदा
बोल, बोल, बोल गोपाला
बोल, बोल, बोल गोविंदा
बोल, बोल, बोल गोपाला



गोविन्द बोलो Govind Bolo – Jubin Nautiyal Video




Was this helpful?

0 / 0

Leave a Reply 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *