गरबे की रात Garbe Ki Raat lyrics in Hindi – Rahul Vaidya

गरबे की रात Garbe Ki Raat lyrics in Hindi – Rahul Vaidya








गरबे की रात Garbe Ki Raat lyrics in Hindi – Rahul Vaidya

ऐ.. खम्मा केह जेह माहरी
खम्मा केह जेह रे..

है माथा पा टीका
लगाडयो मैं आव्यो
माथा पा टीका

ऐ सतरंगी जोड़ी मा
शीश चढ़ावयो
सतरंगी जोड़ी मा

गरबे की है रात
हाथों में दे हाथ
भूले ना ये साथ
ऐसे नाचो

थोड़ा फिसल जाओ
हद से निकल जाओ
यूँ ना संभल पाओ
ऐसे नाचो

ऐ रमवाया वो माहड़ी रमवाया वो
आज मात मेलड़ी रमवाया वो
रमवाया वो माहड़ी रमवाया वो
आज माहरी मूगल माहड़ी रमवाया वो

खम्मा केह जेह माहरी
खम्मा केह जेह रे
थारा छोरुड़ा ने
खम्मा केह जेह

ऐ खम्मा केह जेह माहरी
खम्मा केह जेह रे
थारा छोरुड़ा ने
खम्मा केह जेह

फ़ोन किया रैपर को
मोटी रकम मांगता है
कहता है भक्ति के
गाने नहीं चलते

चलते चलते सोचा
रैप मैं बनाऊंगा
जो भी है दिल में मेरे
लिख के मैं दिखाऊंगा

माता रानी की मुझपे कृपा है
जो भी मिला मुझको
ये सब आप की दुआ है

सब की परेशानियां
एक पल में ये मिटाती
ज़ोर से बोलो, जय माता दी
जय माता दी

गरबे की रात को तू
पीछे पड़ा है
तंग ना कर ऐसे मेरा
भाई खड़ा है

छन छना छन बोले
तेरी पायलिया रे
नज़रों ने तेरी मेरा
दिल ले लिया

ओह तेरी फोटो को
दिल से लगाऊंगा मैं
बस तुझसे ही शादी
बनाऊंगा मैं..

मीरा के बलम
मुझको आती शरम
इतना प्यार ना कर वर
गिर जाऊंगी मैं

ऐ रमवाया वो माहड़ी रमवाया वो
आज मात मेलड़ी रमवाया वो
रमवाया वो माहड़ी रमवाया वो
आज माहरी मूगल माहड़ी रमवाया वो

खम्मा केह जेह माहरी
खम्मा केह जेह रे
थारा छोरुड़ा ने
खम्मा केह जेह

ऐ खम्मा केह जेह माहरी
खम्मा केह जेह रे
थारा छोरुड़ा ने
खम्मा केह जेह



गरबे की रात Garbe Ki Raat lyrics in Hindi – Rahul Vaidya Video




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *